Tag Archives: sanatan dharm

श्री राम स्तुति: अर्थ सहित

ऐसी मान्यता है कि भगवान श्रीराम का नाम लेने मात्र से ही जन्म-जन्मांतर के पाप धुल जाते हैं। अपने अराध्य भगवान श्रीराम की वंदना हेतु कई ऋषियों ने कई स्तुतियां, मंत्र, आरती आदि की रचना की है। एक ऐसी ही स्तुति का वर्णन गोस्वामी श्री तुलसीदासजी द्वारा रचित रामचरितमानस के अरण्यकाण्ड में है। श्री राम […]