भगवा वस्त्र के कारण अनस कुरैशी ने शिव मंदिर के उपाध्यक्ष की हत्या कर दी

सोमवार, 13 जुलाई 2020 को मेरठ के अब्दुल्लापुर बाजार के शिव मंदिर के उपाध्यक्ष कांति प्रसाद को अनस कुरैशी ने पीट-पीटकर मार दिया।

 कांति प्रसाद अब्दुल्लापुर के बाजार में स्थित शिव मंदिर में उपाध्यक्ष थे, मंदिर के अंदर स्थित दुकानों में ही वह भी दुकान करते थे और मंदिर की साफ-सफाई से लेकर पूजा पाठ कराने की जिम्मेदारी भी उन्हीं पर ही थी। सामान्यतः वे साधु की वेशभूषा में ही रहते थे और उनके गले में हमेशा भगवा पटका होता था।

 

 सोमवार को जब वे गंगानगर स्थित बिजली घर में बिजली का बिल जमा कराने गए तब वहां से लौटते समय उन्हें ग्लोबल सिटी के पास अनस कुरैशी मिला, जिसने कांति प्रसाद का भगवा पटका देखकर उन पर धार्मिक टिप्पणी की। अनस कुरैशी द्वारा की गई धार्मिक टिप्पणी का विरोध करने पर अनस ने कांति प्रसाद को पीट दिया।

 कांति प्रसाद ने गांव में लौट कर इसके बारे में सब को बताया और अनस के परिजनों से उसकी शिकायत की, इसी दौरान अनस कुरैशी पीछे से आ गया और फिर दोबारा कांति प्रसाद को बेरहमी से मारने – पीटने लगा। कांति प्रसाद के परिजनों को जब इस बारे में खबर हुई तो वे उन्हें भावनपुर थाने ले गए। थाने में ही कांति प्रसाद की तबियत बिगड़ने लगी तो उन्हें एंबुलेंस द्वारा मेडिकल कॉलेज पहुचाया गया, और एडमिट करा दिया गया। पर मंगलवार को उपचार के दौरान ही कांति प्रसाद की मृत्यु हो गई।

 स्थानीय पुलिस ने कांति प्रसाद की शिकायत के आधार पर अनस कुरैशी के खिलाफ धार्मिक टिप्पणी करने और  हत्या करने का मुकदमा दर्ज किया है, अनस को गिरफ्तार कर लिया गया है और उसे जेल भेज दिया गया है।

 

पिछले कुछ समय से यह लगातार देखने में आ रहा है कि साधूओं और हिंदुओं को लगातार मुसलमानों और इसाई हठधर्मियों द्वारा निशाना बनाया जा रहा है, मौत के घाट उतारा जा रहा है। और विडंबना यह है कि ऐसे में कोई भी प्रतिष्ठित मीडिया संस्थान या एनजीओ एसी घटनाओं के खिलाफ आवाज नहीं उठाता, कोई मॉब लिंचिंग का शोर नहीं उठता। ऐसा लगने लगा है कि देश में हिंदू होना ही अपराध होता जा रहा है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *