पटना में कोरोनावायरस लॉकडाउन पर संघर्ष के दौरान सनी गुप्ता की गोली मारकर हत्या कर दी गई

स्थानीय युवकों और एनसीसी कैडेट्स के बीच लॉकडाउन प्रतिबंध को लेकर विवाद के बाद 20 अप्रैल को बिहार के पटना में सनी गुप्ता नाम के एक व्यक्ति की हत्या कर दी गई ।

 

 

20 अप्रैल को बिहार के पटना स्थानीय मुस्लिम युवकों और एनसीसी कैडेट्स के बीच लॉकडाउन प्रतिबंध को लेकर एक विवाद हुआ, मुस्लिम युवकों ने फिर कैडेटों पर पथराव और गोलीबारी की।  सनी गुप्ता ने पथराव कर रहे युवकों का विरोध किया था इस वजह से चांद मोहम्मद नाम के शातिर अपराधी ने सनी गुप्ता को गोली मार दी। फिर सनी को अस्पताल ले जाया गया जहां उन्होंने सोमवार रात को अंतिम सांस ली।

अपराधी चांद मोहम्मद ने और उसके साथियों ने बाकी परिवार को भी जान से मार देने की धमकी दी है। अपने मासूम बेटे की भीषण हत्या से आहत पिता गोपाल ने अपना घर बेचकर कहीं और बसने का फैसला किया है।

वहां के मुस्लिम समुदाय के लोगों ने नीचता की सभी हदें पार कर दी और मृतक के शवयात्रा पर पथराव कर दिया। इलाके में 100 से अधिक पुलिस कर्मियों को तैनात किया गया है। पुलिस ने सनी के भाई की शिकायत के बाद 25 अज्ञात लोगों के खिलाफ हत्या के आरोप में शिकायत दर्ज की है। पुलिस ने मामले के पाँच नामजद हसनैन, शाहजहाँ, अबुल नासिर, अंजुम और ज़ैनब हाशमी सहित पाँच लोगों को गिरफ्तार किया गया है। मुख्य आरोपी चांद मोहम्मद अभी फरार है। उसे पकड़ने के लिए पुलिस कई स्थानों पर छापेमारी कर रही है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *