हैदराबाद में पशु चिकित्सक प्रियंका रेड्डी को सामूहिक बलात्कार कर जलाया

तेलंगाना की राजधानी हैदराबाद से एक बहुत ही भयावह और घृणित घटना सामने आई है। हैदराबाद के शादनगर में रहने वाली 27 वर्षीय प्रियंका रेड्डी जो कि एक पशु चिकित्सक थी, शादनगर ने से 30 किलोमीटर दूर साईबराबाद के एक पशु चिकित्सालय मे कार्य करती थी। वह प्रतिदिन नेशनल हाईवे पर टोंडूपल्ली  टोल प्लाजा पर अपनी स्कूटी पार्क करती थी और वहां से केब से चिकित्सालय जाती थी। बुधवार की रात जब वह टोल प्लाजा पहुची तो उसने स्कूटी को पंच्चर पाया। प्रियंका ने रात 9ः22 पर अपनी बहन को फोन किया और बताया कि स्कूटी पंच्चर हो गई है। कुछ लोग मदद के लिये उसके आस पास आए हैं पर वो संदिग्ध लग रहे हैं। 

प्रियंका ने बहन को फोन पर बताया कि पास में एक लोरी है और उसके ड्राइवर ने उसे मदद की पेशकश की है, पर उसको डर लग रहा है। इसके बाद प्रियंका का फोन स्विच ऑफ हो गया। प्रियंका की बहन अपने रिस्तेदारों के साथ टोल प्लाजा पर पहुंची तो वहां पर उनको प्रियंका नहीं मिली ।

 

गुरुवार कि सुबह पुलिस को हैदराबाद बेंगलुरु हाईवे पर महिला डॉक्टर की आधी जली लाश मिली। पुलिस ने इस घटना में चार संदिग्धों को गिरफ्तार कर लिया है जिनके नाम इस प्रकार हैं-

मोहम्मद आरिफ पाशा, जोलू शिवा, जोलू नवीन और चिंताकुंटा चेन्नेकशवुलु हैं।

 

 

 इसमें मुख्य आरोपी मोहम्मद आरिफ पाशा है।

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार मुख्य आरोपी मोहम्मद आरिफ ने बलात्कार के दौरान प्रियंका का मुंह दबा रखा था ताकि उसकी चीखें कोई सुन ना सके और इसी तरह चारों दरिंदों ने उसके साथ बलात्कार किया। माना जा रहा है कि सांस ना लेने की वजह से प्रियंका की मौत हो गई और उसके बाद उन दरिंदों ने पेट्रोल छिड़ककर उसे जला दिया ।

इस जघन्य अपराध ने 2012 के दिल्ली के निर्भया कांड की याद ताजा कर दी । हैदराबाद पुलिस को उसी इलाके में एक और  युवती का जला शव मिला है। इन घटनाओं के बाद हैदराबाद में सड़क पर जनता का आक्रोश देखने में आ रहा है। सोशल मीडिया और पूरे देश में इस घटना को लेकर लोगों का गुस्सा फूट पड़ा है। इस तरह के संवेदनहीन जघन्य अपराधों ने सोचने पर मजबूर कर दिया है की किस तरह के माहौल में हम लोग जी रहे हैं जहां इस तरह के भेड़िये  इंसानों के रूप में घूम रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *