बसपा सुप्रीमो मायावती के आगे बेबस हुई कांग्रेस

सोमवार को बसपा सुप्रीमो मायावती ने अप्रैल 2018 में एससी एसटी एक्ट के संबंध में भारत बंद में एससी एसटी समुदाय के लोगों पर दर्ज किए गए केस वापस लेने की मांग की थी। उन्होंने कांग्रेस को चेतावनी दी थी कि यदि वे ऐसा नहीं करते हैं तो मायावती राजस्थान और मध्यप्रदेश में कांग्रेस से समर्थन वापस ले लेंगीं।

दबाब में आकर मध्यप्रदेश में कमलनाथ की कांग्रेस सरकार ने ऐसे सभी केस वापस लेने का निर्णय किया है।

अप्रैल 2018 में एससी एसटी कानून पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ दलित समुदाय ने भारत बंद किया था। और देश भर में कई जगहों पर हिंसा और आगजनी की थी। उसी संबंध में कई लोगों पर मुकदमे दायर किए गए थे।

मध्य प्रदेश की कांग्रेस सरकार ने मायावती की धमकी के आगे घुटने टेक दिए हैं। पर यह पॉलीटकल ब्लैकमेलिंग देश के लिए बहुत घातक सिद्ध होगी और एक बहुत ही गलत उदाहरण साबित होगी ।

राज्य स्तर पर 2 राज्यों में गठबंधन की सरकार का यह हाल है कि घटक दल ब्लैक मेलिंग कर अपनी बात मनवा रहे हैं, तो आप अंदाजा लगा सकते हैं कि यदि 2019 में देश में केंद्र सरकार भी इस प्रकार के किसी गठबंधन द्वारा बनाई जाती है तो देश की क्या हालत होगी। उसका अंदाजा लगाना भी मुश्किल है।

3 thoughts on “बसपा सुप्रीमो मायावती के आगे बेबस हुई कांग्रेस

  1. gamefly says:

    Useful information. Fortunate me I found your site accidentally, and I’m shocked why this coincidence didn’t happened in advance!
    I bookmarked it.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *