मोदी से बैर नहीं, वसुंधरा तेरी खैर नहीं?

पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव के नतीजे बीजेपी के लिए बेहद निराशाजनक रहे। मध्य प्रदेश में स्थिति कुछ संतोष जनक रही परंतु राजस्थान, छत्तीसगढ़, जो बीजेपी के गढ़ माने जाते थे, बीजेपी को वहां हार का सामना करना पडा है। तेलंगाना और मिजोरम से तो बीजेपी को पहले ही कोई उम्मीद नहीं थी

राजस्थान में पद्मावती फिल्म के संबंध में राजपूत पहले ही बीजेपी और वसुंधरा राजे सिंधिया से खफा थे। वहां के बीजेपी के काफी नेताओं ने पहले ही नारा दे दिया था “मोदी से बैर नहीं , वसुंधरा तेरी खैर नहीं”। पर ऐसा लगता है बीजेपी की हाईकमान ने इस पर ध्यान नहीं दिया। SC/ST Atrocities एक्ट में बदलाव करना भी बीजेपी की हार का मुख्य कारण माना जा रहा है। इसको लेकर लोग पहले ही बीजेपी से नाराज हैं।

पिछले कुछ समय से बीजेपी की कोशिश रही है कि वे मुसलमान वोटरों को भी अपनी और आकर्षित कर सके, पर ऐसा लगता है कि इसका नुकसान उन्हें अपने परंपरागत हिंदु वोट बैंक की नाराजगी से भरना पड़ेगा।

सेकुलरिज्म का रास्ता बीजेपी के लिए टेढ़ी खीर साबित हो रहा है। बीजेपी का अस्तित्व हिंदू वोट बैंक रहा है पर यदि बीजेपी अपने परंपरागत वोट बैंक को संभाल कर नहीं रख पाए तो 2019 के लोकसभा चुनाव में भी उनकी राह कठिन नजर आती हैं।

 

3 thoughts on “मोदी से बैर नहीं, वसुंधरा तेरी खैर नहीं?

  1. gamefly free trial says:

    I do believe all of the ideas you’ve offered in your post.
    They’re very convincing and can certainly work. Still, the posts are too brief for
    novices. May just you please lengthen them a bit from next time?
    Thank you for the post.

  2. free minecraft says:

    An intriguing discussion is definitely worth comment. I think that you ought to publish more about this topic,
    it may not be a taboo subject but typically people don’t talk about such issues.
    To the next! Best wishes!!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *