राहुल गांधी – हिंदू ?


गुजरात में विधानसभा चुनाव जीतने के लिए राहुल गांधी मंदिर- मंदिर घूम रहे हैं। यह वही राहुल गांधी हैं जिनके हिसाब से राम एक काल्पनिक पात्र है। कांग्रेस के प्रवक्ता- सुरजेवाला ने एक प्रेस वार्ता में दावे किए कि राहुल गांधी एक जनेऊ धारी ब्राह्मण है ।यह सब ढकोसला केवल गुजरात चुनाव जीतने के लिए?

आइए कुछ तथ्यों पर नजर डालते हैं, कुछ ऐसी ऐतिहासिक घटनाएं, जो सोचने पर मजबूर कर देती है कि क्या वाकई यह नेहरु गांधी परिवार हिंदू है या हिंदुओं का हितैषी है?

मोहनदास करमचंद गांधी जिन्हे हम महात्मा गांधी के नाम से भी जानते हैं । उनका क्या रुख था हिंदुओं के प्रति। वह आजादी से पहले हुई इस घटना से पता चलता है। देश में जब मुसलमान खिलाफत आंदोलन के दौरान हिंदुओं को बर्बरतापूर्ण तरीके से कत्ल कर रहे थे, हिंदू औरतों का बलात्कार कर रहे थे तब हमारे महात्मा गांधी जी ने कहा था कि “यदि हिंदू कमजोर है और वह अपनी रक्षा नहीं कर सकता तो मुसलमानों उन्हे मारेंगे ही, इसमें हम कुछ नहीं कर सकते।” उन्होंने यह भी कहा था कि “यदि मुसलमान हिंदू औरतों का बलात्कार करते हैं तो हिंदू औरतों को उनका प्रतिरोध नहीं करना चाहिए।” यह किस प्रकार के हिंदू थे समझ से बाहर है?

देश के बंटवारे के बाद पाकिस्तान में जो हिंदुओं का नरसंहार हुआ उस पर गांधीजी की चुप्पी आज तक समझ नहीं आती।

नेहरु गांधी परिवार की एक और मुख्य सदस्य जो देश की महिला प्रधानमंत्री बनी श्रीमती इंदिरा गांधी। श्रीमती इंदिरा गांधी ने ऑपरेशन ब्लू स्टार के द्वारा स्वर्ण मंदिर ध्वस्त करा दिया उस ऑपरेशन के दौरान वहां कई सौ मासूम सिख बच्चे, बूढ़े और औरतें भी मारे गए।

1984 में श्रीमती इंदिरा गांधी के कत्ल के बाद हुए सिख दंगों में हजारों सिख मार दिए गए और इस बर्बरतापूर्ण नरसंहार पर जिसमें कांग्रेस के लोग शामिल थे, राजीव गांधी ने कहा था “जब बड़ा पेड़ गिरता है तो धरती हिलती है।’

राजीव गांधी ने अपने प्रधानमंत्री काल में मुस्लिम समुदाय को खुश करने के लिए सुप्रीम कोर्ट के एक ऐतिहासिक निर्णय की धज्जियां उड़ा दीं। शाहबानो केस में सुप्रीम कोर्ट ने इस मुस्लिम महिला के पक्ष में निर्णय दिया जो मुस्लिम समुदाय को पसंद नहीं आया। श्री राजीव गांधी ने अपने नाराज मुस्लिम वोटर्स को खुश करने के लिए रातों-रात एक ऑर्डिनेंस जारी कर सुप्रीम कोर्ट के फैसले को खारिज कर दिया और शाहबानो को सुप्रीम कोर्ट द्वारा दिए गए उसके हक से वंचित कर दिया।

राहुल गांधी जो आज गुजरात में इलेक्शन जीतने के लिए मंदिर मंदिर घूम रहे हैं, और अपने आप को जनेऊ धारी ब्राह्मण साबित कर रहे हैं इन्हीं राहुल गांधी ने यूपीए-2 काल में प्रस्तावित एंटी कम्युनल वायलेंस बिल का समर्थन किया था जो पूरी तरह से हिंदू विरोधी और मुस्लिमों को खुश करने के लिए था।

राहुल गांधी का यूनिफॉर्म सिविल कोड अथार्थ समान आचार संहिता पर कोई साफ स्टैंड नहीं है, क्योंकि यूनिफॉर्म सिविल कोड की अवधारणा मुस्लिम समुदाय को मान्य नहीं है। यूनिफॉर्म सिविल कोड लागू होने पर बहुविवाह समाप्त हो जाएगा और सभी धर्मों के लोगों को एक ही सिविल आचार संहिता माननी होगी जो मुस्लिम समुदाय को पसंद नहीं है, और राहुल गांधी का इसके बारे में कोई साफ स्टैंड न लेना उनकी मुस्लिम उदारीकरण नीति है।

इन्हीं राहुल गांधी का बयान है कि “श्री राम एक काल्पनिक पात्र है।’

यह नेहरू-गांधी परिवार कश्मीर में कश्मीरी पंडितों के नरसंहार पर चुप्पी साधे रहा। ये किस प्रकार के हिंदू हैं ? यह जनता को देखना होगा।

One thought on “राहुल गांधी – हिंदू ?

  1. gamefly says:

    Oh my goodness! Amazing article dude! Thank you, However I am encountering troubles with your RSS.

    I don’t know why I can’t join it. Is there anyone else getting identical RSS problems?
    Anyone who knows the answer will you kindly respond?
    Thanx!!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *