बढ़ता पोल्यूशन, जहरीली धुंध, क्या करें उपाय?


  कैसे हराए पढ़ते पॉल्यूशन को

हर वर्ष नवंबर की शुरुआत में जैसे ही तापमान गिरने लगता है, दिल्ली में हर तरफ धुंध आंखों और गले में चुभने लगती है। ऐसा लगता है कि हम खुद के बनाए हुए एक गैस चैंबर में फंस गए हैं, जो हमारे दिए हुए प्रदूषण का नतीजा है। बजाय इसके कि हम एकदम अचानक नींद से जागते हैं और कहने लगते हैं कि पटाखे ना जलाएं, कूड़ा ना जलाएं, फसलें ना जलाएं, पोल्यूशन हो रहा है। हमें जरूरत है जागरूक बनने की और हर समय पूरे वर्ष प्रयत्नशील रहने की, कैसे बढ़ते हुए पॉल्यूशन को कम किया जाए। आइए बात करते हैं ऐसे ही कुछ तरीकों की।

पेपर का कम से कम इस्तेमाल करें और फालतू कागज ना जलाएं, पेड़ पत्तियों से बना कूड़ा और हरा कुड़ा बजाय जलाने के कंपोस्ट बनाएं।

जितना संभव हो अपने ऑफिस के सहायक कर्मियों से मिलकर कार पूलिंग करें। अपने वाहनों को CNG पर चलाएं, डीजल से चलने वाले वाहन इस्तेमाल करना बंद करें।

खाना बनाने के लिए कोयला या मिट्टी के तेल का इस्तेमाल करना बंद करें, इसके बजाय एलपीजी गैस का इस्तेमाल करें।

सर्दियों में घर को गर्म रखने के लिए कोयले का इस्तेमाल ना करें, इलेक्ट्रिक हीटर का इस्तेमाल करें।

आसपास की जगह पर जाने के लिए भी वाहन के इस्तेमाल से बचें, पैदल जाएं इस से आपका शारीरिक व्यायाम भी होगा।

ज्यादा से ज्यादा पेड़ लगाने के लिए लोगों को जागरूक करें और खुद भी पेड़ लगाएं।

एक रिसर्च के अनुसार प्रकृति में कुछ ऐसे पौधे हैं जो फिल्टर के तरह काम करते हैं, जैसे एलोवेरा, मनी प्लांट, तुलसी, बोस्टन फर्न, गोल्डन पोथोस, अरिका पाम। इन पौधों को हम अपने घर में बालकनी में या घर के बाहर लगा सकते हैं यह आपके घर के आसपास की हवा को साफ रखेंगे।

अगर आप धूम्रपान करते हैं, बीड़ी या सिगरेट पीते हैं, तो उसे भी बंद कीजिए। अगर आपको कहीं धूल मिट्टी नजर आए तो उस पर पानी का छिड़काव कीजिए। धूप या अगरबत्ती का और कैंडल्स का कम से कम इस्तेमाल करें।

अपने वाहनों की रेगुलर मेंटेनेंस और सर्विसिंग कराएं। अपने वाहनों का सही वक्त पर पोलूशन चेक कराएं और पॉल्युशन सर्टिफिकेशन कराएं।

अपने घर के किचन में वेंटिलेशन का ध्यान रखें और इलेक्ट्रिक चिमनी लगवाएं।

तो कोशिश कीजिए इन सभी तरीकों को अपने जीवन में इस्तेमाल करने की। जागरूक बने और लोगों को भी जागरूक करें, तो फिर शायद अचानक से दिवाली पर यह सोचने पर मजबूर ना हो कि शायद इतने पटाखे जलाने से प्रदूषण बढ़ गया।

5 thoughts on “बढ़ता पोल्यूशन, जहरीली धुंध, क्या करें उपाय?

  1. gamefly free trial says:

    Do you mind if I quote a few of your articles as long as I
    provide credit and sources back to your website? My website
    is in the very same niche as yours and my users would really benefit from some of the information you provide here.

    Please let me know if this ok with you. Thank you!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *