इसे कहते हैं असहिष्णुता (Intolerance)


बांग्लादेश में मुस्लिम समुदाय ने हिंदुओं के 30 घर जला दिए

बांग्लादेश की राजधानी ढाका से लगभग 300 किलोमीटर दूर रंगपुर जिले के ठाकुर बाड़ी गांव में शुक्रवार को मुस्लिम समुदाय ने फेसबुक पर गलत पोस्ट डालने की अफवाह के बाद अल्पसंख्यक हिंदुओं के 30 घरों को आग लगा दी।

इस कुकृत्य को करने वाले लोगों का कहना है कि ठाकुर बाड़ी गांव के रहने वाले एक व्यक्ति ने कुछ दिन पहले फेसबुक पर एक अपमानजनक पोस्ट किया था, उनके समुदाय के खिलाफ और वे उससे नाराज हैं। पुलिस के पहुंचने से पहले ही शांतिप्रिय समुदाय के उग्र प्रदर्शनकारियों ने अल्पसंख्यक हिंदुओं के 30 घरों को आग के हवाले कर दिया और लूटपाट भी की।

इस आगजनी की घटना से पहले आसपास के गांवों से लगभग 20000 लोग मौके पर जुड़ गए थे जिसके कारण पुलिस और प्रशासन को प्रदर्शनकारियों से निपटने और कानून व्यवस्था को बनाए रखने में बहुत परेशानी आई। हालांकि पुलिस ने हिंसक भीड़ को तितर बितर करने के लिए गोली भी चलाई जिस में एक व्यक्ति की मौत हुई है।

पिछले वर्ष में भारत में असहिष्णुता को लेकर बहुत ढोल पीटा गया, बहुत हंगामा किया गया, जबकि भारत में लोग प्रधानमंत्री तक को फेसबुक पर गाली दे देते हैं और प्रशासन कुछ नहीं करता।

मुस्लिम समुदाय के लोग आए दिन हिंदू समुदाय को भड़काने के लिए उनके धर्म पर अभद्र पोस्ट फेसबुक पर डालते रहते हैं और भारत में बहुसंख्यक हिंदू समुदाय एक फेसबुक पोस्ट के लिए इस तरह आगजनी पर नहीं उतरता है। तब भी कहा जाता है कि भारत में असहिष्णुता बढ़ गई है। ऐसे कहने वालों को बांग्लादेश में और कुछ दिन पहले बंगाल में हुई घटना पर, जहां बशीरहाट और धूलागढ़ में मुस्लिम समुदाय ने एक फेसबुक पोस्ट को लेकर दंगे किये, आगजनी की, लोगों की हत्या की। पर आश्चर्य की बात यह होती है तब भी बहुसंख्यक हिंदू समाज को ही असहिष्णुता का तमगा दे दिया जाता है। जरूरत है इस पर सोचने की विचार करने की।

5 thoughts on “इसे कहते हैं असहिष्णुता (Intolerance)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *