Nathuram Godse’s Last Speech On Mahatma Gandhi in court

आइए सुनिए नाथूराम गोडसे जी ने क्या कहा कोर्ट में अपने आखरी बयान में और खुद निर्णय लीजिए कि वह एक गद्दार थे या एक नायक !

भारत के इतिहास में नाथूराम गोडसे बदनाम है, एक कातिल की तरह जिन्होंने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का वध किया पर किसी ने यह जानने की कोशिश की कि इसके पीछे क्या वजह रही होगी। यदि आप नाथूराम गोडसे का कोर्ट में आखिरी बयान सुने तो शायद आपको भी लगे कि जो उन्होंने किया वह गलत नहीं था। जिस प्रकार की नीतियां गांधीजी की रही, जो ढुलमुल रवैया उन्होंने अपनाया अपनी नीतियों में उसी का परिणाम था भारत और पाकिस्तान का विभाजन। जिसमें हजारों हिंदू और मुस्लिम मारे गए।
अगर गांधी चाहते तो यह विभाजन कभी नहीं होता। नाथूराम गोडसे व्यवसाय से एक पत्रकार थे और वह काफी समय से इस बात का अवलोकन कर रहे थे कि गांधीजी का रवैया और नीतियां इतनी ढुलमुल रही हैं आजादी के संग्राम में और भारत के विभाजन में, उन्हें लगा कि अगर गांधी जी कुछ समय और जीवित रहे तो जिस प्रकार की ढुलमुल नीतियां उनकी हैं भारत शीघ्र ही और विभाजित हो जाएगा जो नाथूराम गोडसे नहीं चाहते थे। उन्हें लगा कि देश हित में एक अखंड भारत के लिए गांधी का मरना जरूरी है इसलिए उन्होंने गांधी को मारा।

 

6 thoughts on “Nathuram Godse’s Last Speech On Mahatma Gandhi in court

  1. gamefly says:

    Hi my friend! I want to say that this post is amazing, nice written and include approximately all significant infos.
    I’d like to peer extra posts like this .

  2. minecraft download for free says:

    I’m really enjoying the design and layout of your website.
    It’s a very easy on the eyes which makes it much more enjoyable for
    me to come here and visit more often. Did you hire out a developer to create your theme?
    Exceptional work!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *