अब तो उठ खड़ा हो…..

अब तो उठ खड़ा हो……

अब तो उठ खड़ा हो तू
कब तक तू मार खायेगा,
असहाय सा निरीह सा कब तक तू गिड़गिड़ायेगा ।

न बन तू द्रौपदी यहाँ, पुकार न तू कृष्णा को,
लाज है तो उठ खड़ा हो,और कर दे अब प्रहार तू ।

दानवों के साथ तू नियम की न उम्मीद कर,
सीता भी चोट खा चुकी, फिर भी नहीं हुई फ़िक्र ?

ये युद्ध है अधर्म की, अब ज्ञान की न बात कर,
शास्त्र बहोत तू पढ़ चूका,अश्त्र पर भी गौर कर ।

कब तक रहेगा नींद में, अब तो निकल तू स्वप्न से, अब भी नहीं चेता जो तू , इतिहास में खो जायेगा…

अब तो उठ खड़ा हो तू,
कब तक तू मार खायेगा,

कवि- श्री मनोज मिश्रा

9 thoughts on “अब तो उठ खड़ा हो…..

  1. how to download minecraft free says:

    Excellent pieces. Keep posting such kind of information on your
    page. Im really impressed by it.
    Hi there, You’ve done a great job. I will certainly digg it and personally recommend to my friends.
    I am confident they’ll be benefited from this website.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *